• Uncategorized

    India Needs Nationalism… Softer Nationalism

    I am not opposed to nationalism and will never be. Was born into a tradition that believed India to be the greatest nation in the world. We have been taught about the ‘Sone ki chidiya’ that once enlightened the world with its wealth of knowledge and showed military excellence too. We were taught that the nation is more diverse than the colors on the spectrum and what binds us all is that one word, one blood that runs through our veins- India. We were taught that our India is the greatest and the best. Nothing compares to India. No matter how far away you are from India, you will always…

  • Uncategorized

    प्लास्टिक के झण्डे से मेरा भारत महान

    मेरे नानाजी कहते हैं की उनके ज़माने में खादी या सूती कपडे के झण्डे फहराये जाते थे. कमाल की बात है, ऐसा ही एक झंडा मेरे स्कूल में भी था. बड़ा सा, खादी का झंडा. पर बड़ा भारी था. मेरी दिली तमन्ना थी की फिल्मो में दिखने वाले झण्डे की तरह ये भी आकाश में सर उठा के उड़ता रहता. खैर.   मुद्दे की बात ये है की मैंने तो बचपन से प्लास्टिक के झण्डे ही इस्तेमाल किये हैं. भाई वक्त बदला है तो वक़्त के साथ झण्डे भी बदलने चाहिए. प्लास्टिक का झंडा अपने आप में बड़ी अच्छी चीज़ है. बारिश आ जाये तो ख़राब नहीं होता. आप चाहे…